Love Shayari

November 18, 2018

तय है बदलना, हर चीज बदलती है इस जहां में,
किसी का दिल बदल गया, किसी के दिन बदल गए।

यूं तो किसी चीज के मोहताज नही हम,
बस एक तेरी आदत सी हो गयी है।

बिन दिल के जज्बात अधूरे, बिन धड़कन अहसास अधूरे,
बिन साँसों के ख्वाब अधूरे, बिन तेरे हम कब हैं पूरे।

ज़ुल्फों को उंगलियों से किनारे किया ना कर
दिल मेरा आवारा है इसे और बिगाड़ा ना कर।

आँखे खुली जब मेरी तो जाग उठीँ हसरतेँ सारी,
उसको भी खो दिया मैँने..जिसे पाया था ख़्वाब मेँ।

तेरे वजूद से ही मेरी मुकम्मल कहानी,
मैं एक खोखली सीप तू एक मोती रूहानी।

मोहल्ले की मोह्ब्बत का भी अजीब फ़साना है,
चार घर की दूरी और बीच मे सारा जमाना है।

खुला ना रख हर एक के लिये दिल का दरवाज़ा,
ये दिल एक घर हैं इसे बाज़ार मत बना।

कोशिश तो बहुत करता हूँ,
पर अब किसी से तुम्हारे जैसी मोहब्बत नही होती। 💔

मुस्कुराने के मकसद न ढूंढ वर्ना जिन्दगी यूँही कट जायेगी,
कभी बेवजह भी मुस्कुरा के देख, तेरे साथ जिन्दगी भी मुस्कुरायेगी।

You Might Also Like

0 Comments