Dard Shayari


पर्दा गिरते ही खत्म हो जाते हैं तमाशे सारे,

खूब रोते हैं फिर औरों को हँसाने वाले।