Dard Shayari


दर्द से रिश्ता पुराना रहा,

हर कदम एक नया फ़साना रहा,
किसे कहे ये दिल अपना?
यहाँ तोह हर अपना बेगाना रहा!