जब ख़याल आया तो


जब ख़याल आया तो खयाल भी उनका आया
जब आँखे बंद की ख्वाब भी उनका आया ,
सोचा याद कर लू किसी और को
मगर होठ खुले तो नाम भी उनका आया.