Gallery

Random Posts

Love Shayari Images in Hindi Download HD Shayari

Love Shayari Images in Hindi Download HD Shayari





love Shayari image in Hindi images download

जिसके लफ़्ज़ों में हमें अपना अक्स मिलता है,
बड़े नसीबों से ऐसा कोई शख़्स मिलता है..!!

हर कोई तेरे आशियाने का पता पूछता है,
न जाने किस किस से वफा के वादे किये है तूने !!

ए ख़ुदा कसमें सच्ची होती तो,
क्या हो गया होता।
उसने खाई थी कसमें इतनी झूठी,
के तू भी मेरे साथ मर गया होता।

Love Shayari Images in Hindi

मैं हूँ, दिल है, तन्हाई है,

तुम भी होते तो अच्छा होता..

उसने हँसकर देखा मुझे, दिल में सवाल सा हो गया
उससे दिल की बात कही और बवाल सा हो गया

काश एक शायरी कभी
तुम्हारी क़लम से ऐसी भी हो...
जो मेरी हो, मुझ पर हो और
बस मेरे लिए ही हो...

बार बार जाती है नजर क्यों
तुम पर मेरी कलम की..!!
शायद अधूरी मुहब्बत हो तुम
मेरे पिछले जन्म की....!!

माना कि तेरे दर पे हम
खुद चलकर आये थे ऎ इश्क़
लेकिन दर्द दर्द और बस दर्द
ये कहाँ की मेहमान नवाजी है।

अगर शक है मेरी मोहब्बत पे
तो दो चार गवाह बुला लो,
हम आज, अभी, सबके सामने,
ये जिन्दगी तेरे नाम करते है....!!

love Shayari Images in Hindi


बहुत से रिश्ते इसलिए भी ख़त्म हो जाते है,
क्यूँकी एक सही बोल नहीं पाता और
दूसरा सही समझ नहीं पाता.......

love Shayari with image in Hindi


यूँ ना आया करो बिना ताल्लुक के तुम ख़्वाबों में,
घरवाले देख लेंगे तो क्या जवाब दूँगा मै

मेरे ख़याल से,,, अब हम.....
तेरे......ख़्याल में भी नहीं बचे...!!

अक्सर कमजोर बना देती है तारीफे,
जब सामने आती है हकीकत की दीवारें।

आधे से कुछ ज्यादा....  पूरे से कम....
कुछ ज़िन्दगी....   कुछ गम....
कुछ इश्क़....   कुछ हम.....

सच्चे किस्से शराबखाने में सुने,
वो भी हाथ मे जाम लेकर,
झूठे किस्से अदालत में सुने,
वो भी हाथ मे गीता-कुरान लेकर....

छुपा ले मुझे अपने सांसो के दरमियां
कोई पूछे तो कहना ज़िन्दगी है मेरी.....

हर गरीब पर इतनी दया करना ऐ रब,
दिल भले ही टूट जाए पर मोबाइल न टूटे..

 love Shayari photo HD Download


वो अब भी मुझे याद है...
लानत है ऐसी यादाश्त पर...

बचपन के दिन भुला ना देना
आज हंसे कल रुला ना देना
इचक दाना -पिचक दाना, दाने उपर दाना
कितना प्यारा था बचपन मस्ताना....

हाथ तो उनके भी गंदे हुए होंगे,
जिन्होंने मेरे नाम पर कीचड़ उछाला है..!

किस्मत भी हम पर क़यामत ढा गयी
हम उनके लिए जगे,उन्हें नींद आ गयी।

मुझे रब ने सिर्फ
सब को तंग करने के लिए बनाया है
ये इश्क का तो तूने हम पे इल्जाम लगाया है।

वक्त सिखा देता है​
​उसूल जिन्दगी का
​​फिर नसीब क्या?​​
​​लकीर क्या?​​
​​और तकदीर क्या?​​

तुझे हम इश्क करना सिखायेगे
दो पल रुक तुझे धरती पे ही जन्नत दिखाएंगे।

पैरों के छाले सुहाना सफर लगने लगे हैं
जब से हम मंजिल के करीब आने लगे हैं।

मैंने कहा मैंने मेरा सबकुछ तुम्हे दिया...
तुमने सुना मैंने तुम्हारा सब छीन लिया....

Middle Ad Article 2

Advertise Articles