उर्दू शायरी

urdu shayari in hindi, urdu shayari in hindi font, उर्दू शायरी

वो सुनता है सबकी दुआ कर तो देखो 
तुम अपनी नशीब आजमा कर तो देखो 
सियाही गुनाहों की धुल जाए दिल से 
तुम आँखों से आँसू बता कर तो देखो !!

ना जाने कौन मेरे हक में दुआ पढता है 
डूबता भी हूँ तो समुंदर उछाल देता है !!

मुझे फिर तबाह कर मुझे फिर रुला जा
सितम करने वाले कहीं से तू आजा

आँखों में तेरी ही सूरत बसी है
तेरी ही तरहा तेरा ग़म भी हंसीं है

Kabr Me Dafnate Hi Sare Rishte Toot Jate Hai
Chand Dino Me Apne Apno Ko Bhool Jate Hai
Koi Nahi Rota Umar Bhar Kisi Ke Liae Waqt Ke Sath
Aansu Bhi Sookh Jate Hai

Raat Me Sone Se Pahle Sabko Maaf Kar Diya Kro
Khuda Tumhe Subah Uthne Se Maaf Kar Dega

तेरी आँखों से गुफ्तगू करके
मेरी आँखों ने बोलना सीखा है
Urdu Shayari In Hindi

Zisme Akele Chalne Ki Himmat Hote Hai
Unke Piche Ek Din Qafile Hote Hai !!

Shareer Kabhi Bhi Pur Pvitar Nahi Ho Sakta
Fir Bhi Sbhi Pvitrta Ki Koshish Karte Hai
Maan Pvitr Ho Sakta Hai Mgar
Afsos Koi Koshish Nahi Karta !!

Kabar Me Dafnate Hi Sare Rishte Toot Jate Hai !
Chand Dino Me Apne Apno Ko Bhool Jate Hai
Koi Nahi Rota Umar Bhar Kisi Ke Liae
Waqt Ke Sath Aansu Bhi Sookh Jate Hai !!

Urdu Shayari In Hindi Images

Udas Rahta Hai Mohalle Me Barish Ka Pani
Aaj Kaa Suna Hai Kagaz Ki Nav Bnane Wale Bade Ho Gaae !!

उर्दू शायरी

urdu shayari in hindi, urdu shayari in hindi font, उर्दू शायरी

उम्मीद अभी जिन्दा है,संघर्ष अभी बाकी है !
तूफां आके चला गया,उत्कर्ष अभी बाकी है !
न्याय की उम्मीद मे,हर आह ने दम है भरा ! 
झूठ ने सच को ढका,निष्कर्ष अभी बाकी है !
अज्ञान के तिमिर मे,ज्ञानेश ‘ कही खो गया !
जुगनुओ की रोशनी का,अंश अभी बाकी है !

जली हुई रोटीयों पर बहोत शोर मचाया तुमने गालीब,
मां की जली हुई उंगलीया देख लेते तोभुख ही मिट जाती.!!!

ख़ुशियाँ तो उँगलियों पे कई बार गिन चुके
पर ग़म हैं  बेशुमार,ग़मों का हिसाब क्या

जो मिल गया उसे तक़दीर का लिखा कहिये 
जो खो गया उसे क़िस्मत का फ़ैसला कहिये.

”यूँ प्यार नही छुपता पलको को झुकाने से,
आँखो के लिफाफो मे तहरीर चमकती है..”

इस से पहले कि बेवफ़ा हो जाएक्यूँ न ए दोस्त
हम जुदा हो जाएँतू भी हीरे से बन गया पत्थर
हम भी कल जाने क्या से क्या हो जाए

एहसान किसी का वो रखते नहीं …..
मेरा भी लौटा दिया ….जितना खाया था
नमक मेरामेरे ही जख्मों पर लगा दिया….

इक फूल है गुलाब काआज उनके हाथ में धड़का
मुझे ये है कि किसी का जिगर न हो

आलम में अगर इश्क़ का बाज़ार न होता
कोई किसी बंदे का ख़रीदार न होता⁠⁠⁠⁠

तुम्हें अपना कहने की तमन्ना थी दिल में..
लबों तक आते आते,तुम ग़ैर हो गए.!

अब नज़्अ का आलम है मुझ पर,
तुम अपनी मुहब्बत वापस लोजब कश्ती डूबने लगती है,
तो बोझ उतारा करते हैं

प्यार करने वालों की किस्मत खराब होती है; 
हर वक़्त इम्तिहान की घडी साथ होती है;
वक़्त मिले तो कभी रिश्तों की किताब खोल कर देखना; 
दोस्ती हर रिश्ते से लाजवाब होती है।

“जल जाते हैं मेरे अंदाज़ से मेरे दुश्मन
क्यूंकि एक मुद्दत से मैंने
न मोहब्बत बदली और न दोस्त बदले .!!”

ज़िन्दगी का सबसे अच्छा पल वो है जब आप कहते हैं मैं ठीक हूँ
और आपका दोस्त आपकी आँखों में एक पल झाँकने के बाद कहे
 चल अब बता क्या बात है।

दौलत की भूख ऐसी की कमाने निकल गए। 
दौलत मिली तो हाथ से रिश्ते निकल गए। 
बच्चों के साथ रहने की फुर्सत ना मिल सकी।
और जब फुर्सत मिली तो बच्चे खुद हीदौलत कमाने निकल गए।।

खुशीयां बटोरते बटोरते उमर गुजर गई,
पर खुश ना हो सके, एक दिन एहसास हुआ, 
खुश तो वो लोग थेजो खुशीयां बांट रहे थे.

चेहरे की हंसी से ग़म को भुला दो,
कम बोलो पर सब कुछ बता दो.खुद ना रुठों पर सब को हँसा दो,
यही राज है ज़िंदगी का,कि जियो और जीना सिखा दो

जरुरत के मुताबिक जिंदगी जिओ.. 
ख्वाहिशों के मुताबिक नहीं। क्योंकि जरुरत तो फकीरों की भी पूरी हो जाती है, 
और ख्वाहिशें बादशाहों की भी अधूरी रह जाती है।

ज़िंदगी उसी को आज़माती है,जो हर मोड़ पर चलना जानता है.
कुछ पाकर तो हर कोई मुस्कुराता है, ज़िंदगी उसी की होती है
 जो सब खोकर भी मुस्कुराना जानता है.

बिंदास मुस्कुराओ क्या ग़म हे, ज़िन्दगी में टेंशन किसको कम हे,
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम हे, जिन्दगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम हे।

हंस मरते हुये भी गाता हैऔर मोर नाचते हुये भी रोता है..
ये जिंदगी का फंडा हैबॉस दुखो वाली रात निंद नही आती
और खुशी वाली रात कौन सोता है..

प्यार वो है जिसमे सच्चाई हो; साथी की हर बात का एहसास हो; 
उसकी हर अदा पर नाज़ हो; दूर रह कर भी पास होने का एहसास हो

पल पल के रिश्ते का वादा है आपसे;अपनापन कुछ इतना ज्यादा है आपसे;
ना सोचना कि भूल गए हम आपको; ज़िन्दगी भर चाहेंगे ये वादा है आपसे।

हम जिनके दीवाने है वो गैरों के गुण गाते थे,
हमने कहा आपके बिन जी ना सकेंगे,
तो हंस के कहने लगे, 
के जब हम ना थे तब भी तो जीते थे..

शाम होते ही दिल उदास होता है टूटे ख्यालो के शिवा कुछ ना पास होता है
आपकी याद भी उस वक्त आती हैजब आपका मोबाइल स्विच आफ होता है ,

रिश्ते बनाना इतना आसान होता है
जैसे ”मिट्टी” से ”मिट्टी” पर ”मिट्टी” लिखना ॥
लेकिन… रिश्ते निभाना उतना ही मुश्किल होता है
जैसे ”पानी” पर ”पानी” से ”पानी” लिखना ॥

Leave a Reply

Bitnami