Facebook SDK



Jaun Eliya collection Of Poetry, Shayari, ghazal, Nazm in Urdu, their famous audio, video, and ebooks, Read more about Jaun Eliya 


Jaun Eliya Poetry

Jaun Eliya collection Of Poetry
Jaun Eliya collection Of Poetry

jaun elia shayari

अपने दिल की बात उनसे कह नहीं सकते, बिन कहे भी जी नहीं सकते, ऐ खुदा! ऐसी तकदीर बना, कि वो खुद हम से आकर कहे कि, हम आपके बिना जी नही सकते. 

jaun elia rekhta

कहते हैं की पहला प्यार कभी भुलाया नहीं जाता, फिर पता नहीं लोग अपने माँ बाप का प्यार क्यूँ भूल जाते हैं !

shayad jaun elia

पढ़ लेना दिल का "दर्द" कहीं पढ़ लेना दिल का "दर्द" कहीं...:"अल्फाज़"...बदल लेते है "हम"..... : आंखों में "नमी" आ जाए तो..."आवाज़"...बदल लेते "हम"....."अल्फाज़"...बदल लेते है "हम"..... आंखों में "नमी" आ जाए तो..."आवाज़"...बदल लेते "हम".....

हर रात मेरा नाम बोल कर सोया करो, खिड़की खोल तकिया मोड़ के सोया करो, हम भी आएंगे तुम्हारे ख्यालों में, इसलिये थोड़ी सी जगह छोड़ के सोया करो।

चेहरे पर हंसी छा जाती है, आँखों में सुरूर आ जाता है, जब तुम मुझे अपना कहते हो, मुझे खुद पर गुरुर आ जाता है।

भीगी भीगी सी ये जो मेरी लिखावट है...स्याही में थोड़ी सी, मेरे अश्कों की मिलावट है....!

पढ़ लेना दिल का "दर्द" कहीं..."अल्फाज़"...बदल लेते है "हम"..... : आंखों में "नमी" आ जाए तो..."आवाज़"...बदल लेते "हम".....

jaun elia best shayari

अपने दिल की बात उनसे कह नहीं सकते,बिन कहे भी जी नहीं सकते, ऐ खुदा! ऐसी तकदीर बना, कि वो खुद हम से आकर कहे कि, हम आपके बिना जी नही सकते.

भूल शायद बहुत बड़ी कर लीदिल ने दुनिया से दोस्ती कर ली


आँखें भी मेरी पलकों से सवाल करती हैं,  हर वक़्त आपको ही बस याद करती हैं,  जब तक ना कर लें दीदार आपका,  तब तक वो आपका इंतज़ार करती हैं। 


मत पूछो मेरे दिल का हाल आपके दिल भी बिखर जाएँगेइस लिए नही सुनाते अपने दिल का दर्द किसी को ये सुनके तो तन्हाई के भी आँसू निकले…




हर  काँच  के  टुकड़े  को  हीरा  नहीं  कहतेरुलाते तो सभी है लेकिन कोई तुम्हारे लिये खुद रो पड़े,


धोखा  देती  है  अक्सर  मासूम  चेहरे  की  चमक,..


जिन्हें भुलाया नहीं जा सकता उन्हें माफ़ कर दो,औरजिन्हें माफ़ नहीं कर सकते उन्हे भूल जाओ.....!!!!


जो "आपके" है,वो "व्यस्त" नही हो सकते!और....जो "व्यस्त" है,वो "आपके" नही हो सकते।।


आँखें भी मेरी पलकों से सवाल करती हैं,  हर वक़्त आपको ही बस याद करती हैं,  जब तक ना कर लें दीदार आपका,  तब तक वो आपका इंतज़ार करती हैं।


कभी ख़ुशी से ख़ुशी की तरफ नहीं देखा,  तुम्हारे बाद किसी की तरफ नहीं देखा,  ये सोच कर के तेरा इंतजार लाजिम है,  तमाम उम्र घडी की तरफ नहीं देखा ।


कोई मिलता ही नहीं हमसे हमारा बनकर,  वो मिले भी तो एक किनारा बनकर,  हर ख्वाब टूट के बिखरा काँच की तरह,  बस एक इंतज़ार है साथ सहारा बनकर।



इन आँखों को जब तेरा दीदार हो जाता है दिन कोई भी हो मेरा त्यौहार हो जाता है.



बिना संघर्ष कोई महान नही होता, बिना कुछ किये जय जय कार नही होता, जब तक नहीं पड़ती हथोड़े की चोट, तब तक कोई पत्थर भी लोगों के लिए भगवान नही



अपने दिल की बात उनसे कह नहीं सकते, बिन कहे भी जी नहीं सकते, ऐ खुदा! ऐसी तकदीर बना, कि वो खुद हम से आकर कहे कि, हम आपके बिना जी नही सकते. 



मालूम है हमें....कि ये मुमकिन नहीं, मगर…  एक आस सी रहती है कि ...तुम याद करोगे…


Previous Post Next Post